Raksha Bandhan

9 New Poem on Raksha Bandhan in Hindi – Rakhi Kavita For Brother, Sister

Poem on Raksha Bandhan in Hindi
Written by HindiMeStatus

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका आपकी अपनी वेबसाइट HINDIMESTATUS.com पर| आज हम आपके लिए Best Poem on Raksha Bandhan in Hindi का बेस्ट कलेक्शन लेकर आये है| जिनको आप नीचे पढ़ोगे|

रक्षाबंधन भाई और बहन के प्यार प्रतीक त्यौहार है यह दिन बहन और भाई के लिए बहुत खास दिन होता है और इसे राखी का भी त्यौहार कहा जाता है यह त्याग, प्रेम और कर्तव्य का बंधन है| यह एक ऐसा पावन पर्व है जो भाई-बहन के पवित्र रिश्ते को पूरा आदर और सम्मान देता है.

इस दिन बहनें अपने भाई के दायें हाथ पर राखी बाँधकर उसके माथे पर तिलक करती हैं और उसकी लंबी आयु की कामना करती हैं। बदले में भाई उनकी रक्षा का वचन देता है। ऐसा माना जाता है कि राखी के रंगबिरंगे धागे भाई-बहन के प्यार के बन्धन को मज़बूत करते है.

भाई बहन एक दूसरे को मिठाई खिलाते हैं और सुख-दुख में साथ रहने का विश्वास दिलाते हैं। रक्षाबन्धन के अवसर पर कुछ विशेष पकवान भी बनाये जाते हैं जैसे घेवर, शकरपारे, नमकपारे और घुघनी। घेवर सावन का विशेष मिष्ठान्न है.

इस लेख में आपको रक्षा बंधन कविता का बेस्ट कलेक्शन मिलेगा जाइये पढ़िए और शेयर कीजिये यह बहुत ही सुंदर और शानदार है और यह छोटे बच्चो के लिए बहुत काम की है|

Raksha Bandhan Kavita को आप ज्यादा से ज्यादा सोशल मीडिया पर शेयर कीजिये जिससे की और लोग भी देख सके और खुद भी इस्तमाल कर सके| आप इन्हें कॉपी पेस्ट भी कर सकते है| तो चलिए लेख पड़ना शुरू करते है.

जरुर पढ़े ⇒ Raksha Bandhan Essay in Hindi

Poem on Raksha Bandhan in Hindi – रक्षा बंधन कविता इन हिंदी

Poem on Raksha Bandhan in Hindi - रक्षा बंधन कविता इन हिंदी

राखी आई खुशियाँ लाई
बहन आज फूली ना समाई
राखी, रोली और मिठाई
इन सब से थाली खूब सजाई
बांधे भाई की कलाई पर धागा
भाई से लेती है यह वादा
राखी की लाज भैया निभाना
बहन को कभी भूल ना जाना
भाई देता बहन को वचन
दुख उसके सब कर लेगा हरण
भाई बहन को प्यारा है
त्यौहार राखी का न्यारा है

“बहन का प्यार किसी दुआ से कम नहीं होता
वो चाहे दूर भी हो तो गम नहीं होता
अक्सर रिश्ते दूरियों से फीके पड़ जाते है
पर भाई बहन का प्यार कम नहीं होता”

Short Poem on Raksha Bandhan in Hindi – रक्षाबंधन पर बहन के लिए कविता

Short Poem on Raksha Bandhan in Hindi - रक्षाबंधन पर बहन के लिए कविता

आज बहन ने बड़े प्रेम से
रंग बिरंगा चौक बनाया
इसके बाद चौक के ऊपर
अपने भैया को बिठाया
रंग बिरंगी राखी बाँधी
फिर सुंदर सा तिलक लगाया
गोल गोल रसगुल्ला खाकर
भैया मन ही मन मुस्कुराया
थाल सजाकर दीप जलाकर
भैया की आरती उतारी
मन ही मन में कहती बहना
भैया रखना लाज हमारी
करना सदा बहन की रक्षा
भैया तुमको समझता है
कच्चे धागों का ये बंधन
रक्षा बंधन कहलाता है

“भाई बहन उतने ही करीब होते है
जितना की हमारी दोनों आँखे”

Rakhi Poems in Hindi – भाई पर कविता

Short Poem on Raksha Bandhan in Hindi - रक्षाबंधन पर बहन के लिए कविता

प्रीत के धागों के बंधन में,
स्नेह का उमड़ा रहा संसार
सारे जग में सबसे सच्चा
होता भाई बहन का प्यार
नन्हे भैया का है कहना
राखी बंधो प्यारी बहना
सावन की मस्तिली फुहार
मधुरित संगीत सुनती है
मेघो की ढोल ताप पर,
वसुंधरा मुस्कुराती है
आया सावन का महिना
राखी बांधो प्यारी बहना
धरती ने चंदा मामा को
इन्द्रधनुष राखी पहनाई
बिजली चमकी खुशियों से,
रिमझिम जी ने झड़ी लगाई
राजी खुशी सदा तुम रहना
राखी बांधो प्यारी बहना

“आज का दिन बहुत ख़ास है
बहना के लिए बहुत कुछ मेरे पास है
तेरे सुकून की खातिर ओ बहना
तेरा भाई हमेशा तेरे पास है”

Poem on Rakhi For Brother in Hindi – रक्षा बंधन पर कविताएं हिंदी में

Poem on Rakhi For Brother in Hindi

कैसी भी हो एक
बहन होनी चाहिए….
बड़ी हो तो माँ – बाप
से बचाने वाली…..
छोटी हो तो हमारे…
पीठ पीछे छुपने वाली….
बड़ी हो तो चुपचाप हमारे
पॉकेट में पैसे रखने वाली…
छोटी हो तो चुपचाप पैसे
निकाल लेने वाली…
छोटी हो या बड़ी
छोटी – छोटी बातों
पे लड़ने वाली
एक बहन होनी चाहिए
खुद से ज्यादा हमे
प्यार करने वाली एक
बहन होनी चाहिये

“बहन का प्यार जुदाई से कम नहीं होता
अगर वो दूर भी जाए तो ग़म नहीं होता”

Poem on Raksha Bandhan in Hindi For Brother – रक्षाबंधन पर भाई के लिए कविता

Poem on Raksha Bandhan in Hindi For Brother

बड़ा अनोखा ये प्रेम का बंधन
बहना मेरी मेरे घर का कुन्दन
धुप पुष्प का थाल सजाकर
आई करने को पूजन वन्दन
जुग – जुग जिये भैया मेरा
हर रोज लगाऊं दीप व् चंदन
मिले सफलता तुझे जहाँ में
जाएँ जहाँ भी तेरा हो अभिनन्दन
खुशियाँ ही खुशियाँ मिले तुझे बहना
न देखू तेरा कभी करुण क्रदन
मिलकर रहे दीप बहन-भाई
ये याद दिलाता हमे रक्षा बंधन

“किसी के ज़ख़्म पर चाहत से पट्टी कौन बाँधेगा
अगर बहनें नहीं होंगी तो राखी कौन बाँधेगा”

Funny Poem on Raksha Bandhan in Hindi – रक्षा बंधन पर हिंदी पोएम

Funny Poem on Raksha Bandhan in Hindi

राखी का आज त्यौहार है
बहन भाई के लिए बहुत खास है
लाया खुशियों की बहार है
रेशम के धागे से बंधा प्यार है।

बहनें आज भाइयों को
कुमकुम का तिलक लगाती हैं
अपने प्यारे हाथों से
भाई को मिठाई खिलाती है।

भाई की सूनी कलाई पर
रेशम का धागा बांधती है
बदले में भाई से रक्षा का
अनमोल वायदा पाती है।

भाई भी सुंदर सुंदर तोहफे
बहनों के लिए लाते हैं
तोहफे में क्या मिलने वाला है
बहनें उत्सुक रहती हैं।

बहनें भी भाई की
सलामती की दुआ करती है
खुश रहो तुम सदा भैया
यही प्रार्थना करती है।

बहन भाई का एक दूसरे पर
होता अटूट विश्वास है
रेशम के धागे से ये
बंधा हुआ त्यौहार है।

“याद है हमारा वो बचपन,
वो लड़ना – झगड़ना और वो मना लेना,
यही होता है भाई – बहन का प्यार,
और इसी प्यार को बढ़ाने के लिए आ रहा है
रक्षा बंधन का त्यौहार”

Poem on Rakhi For Sister in Hindi – हैप्पी रक्षा बंधन कविता हिंदी में

Poem on Rakhi For Sister in Hindi

अच्छे भैया मेरे…
सबसे प्यारे भैया मेरे…
तुम हो मेरे रखवाले…
मुझसे ये राखी बन्धवाले…
तेरे साथ मैं चलूँगी..
मेरे साथ तुम चलना…
तेरी रक्षा मैं करुगी..
मेरी रक्षा तुम करना..
राखी का ये बंधन प्यारा..
इस बंधन को बांधे रखना..
टूटे ना रिश्तो का धागा…
मजबूत अपने इरादे रखना…
जब मैं तुमसे रूठ जाऊं..
तो तुम मुझे मनाना..
जब-जब मैं रोऊँ..
तुम मुझे हंसाना..
मेरे भैया दूर ना जाना..
मुझसे तुम राखी बंधवाना..
प्यारे प्यारे भैया मेरे …
सबसे अच्छे भैया मेरे….

“चंदन का टीका रेशम का धागा;
सावन की सुगंध बारिश की फुहार;
भाई की उम्मीद बहना का प्यार;
मुबारक हो आपको “”रक्षा-बंधन”” का त्योहार”

Poem on Brother and Sister Relationship in Hindi – Raksha Bandhan Poem in Hindi

Poem on Brother and Sister Relationship in Hindi

हर सावन में आती राखी,
बहना से मिलवाती राखी…
चाँद सितारों की चमकीली,
कलाई को कर जाती राखी…
जो भूले से भी ना भूले,
मनभावन क्षण लाती राखी,
अटूट-प्रेम का भाव धागे से
हर घर में बिखराती राखी…
सारे जग की मूल्यवान
चीजों से बढकर भाती राखी.
सदा बहन की रक्षा करना,
भाई को बतलाती राखी.

“बहन ने भाई की कलाई पर प्यार बाँधा हैं,
तुम ख़ुश रहो हमेशा यही सौगात माँगा हैं”

Poem on Raksha Bandhan in Hindi For Sister – रक्षाबंधन पर हिंदी कविताएं

Poem on Raksha Bandhan in Hindi For Sister

आओ भैया , प्यारे भैया
मस्तक पर शुभ तिलक लगा दूँ
रक्षा बंधन की बेला मेँ
धागो का कंगन पहना दूँ

युग – युग जियो , फलो – फूलो तुम , जीवन भर मेरे भाई
राखी के इस शुभ अवसर पर यही कामना मैँ लाई

जब तक रवि – शशि करते विचरण , गंगा – यमुना है साखी
तब तक रक्षा करे तुम्हारी
बहना की प्यारी राखी

दिन बीते सुख चैन भरे
रातेँ बीते आनन्द भरी
रेशम के कोमल धागोँ मेँ
बहना की प्रीत भरी

मेरी बहना , प्यारी बहना
तुझे वचन मैँ देता हूँ
जीवन भर अपनी बहना की
रक्षा का प्रण लेता हूँ

बहना तेरी आन – मान पर
आँच न मैँ आने दूँगा
इस प्यारी राखी के बदले
जीवन भी अपना दूँगा

“फूलों का तारों का सबका कहना हैं,
एक हजारो में मेरी बहना हैं”

Poem on Raksha Bandhan in Hindi पर लिखा गया लेख अगर आपको पसंद आये तो आप इसे फेसबुक, व्हाट्सएप्प, ट्विटर इत्यादि पर जरुर शेयर करे| अगर आपको कोई कविता आती है और आप उसे हमारी वेबसाइट पर अपलोड करवाना चाहते है तो फिर आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख सकते है.

हम आपके लिए ऐसी नए – नए लेख लेकर आते रहेंगे| इसलिए आप हमारी वेबसाइट का नोटिफिकेशनओन कर ले जिससे आपको हमारे हर लेख की जानकारी मिलती रह करेगी.

आपको HindiMeStatus.com टीम की और से रक्षा बंधन की हार्दिक शुभकामनाएँ| 🙂

About the author

HindiMeStatus

Leave a Comment