{ Happy } Fathers Day Poems in Hindi – मेरे प्यारे पापा के लिए रुला देने वाली हिंदी कविता

आज का हमारा शीर्षक है पिता : Fathers Day Poems in Hindi From Son

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका आपकी अपनी वेबसाइट HINDIMESTATUS.com पर| आज हम आपके लिए Father’s Day Speech in Hindi का बेस्ट कलेक्शन लेकर आये है| जिनको आप नीचे पढ़ोगे.

हमारे जीवन में जितना महत्व माँ का होता है उतना ही पिता का भी होता है| अगर माँ जन्म देती है तो पिता अपने पैरो पर खड़ा होने के काबिल बनाते है| हमारे जीवन में पिता की बहुत अहम् भूमिका है.

दुनिया में कोई भी पिता अपने बच्चे को गलत रास्ते पर चलने की सलाह नहीं देते है वह चाहते है की उनका बच्चा कामयाब और सर्वशेस्ट बने और कोई गलत काम ना करे| पिता अपने बच्चे के लिए दिन रात कमाता है ताकि उनका बच्चा अच्छे स्कूल में पड़ सके और अच्छी जिन्दगी जी सके.

वैसे तो हर दिन पिता के लिए ही होता है लेकिन साल में एक दिन खास सिर्फ पिता के लिए ही होता है वो Father’s Day (पिता दिवस) है| इस दिन सभी बच्चे अपने पिता के लिए कुछ ना कुछ जरुर करते है और इस दिन अपने पिता को ज्यादा से ज्यादा खुश रखते है.

Father’s Day पुरे देश में बड़ी धूम-धाम के साथ मनाया जाता है| और इस दिन स्कूल में इवेंट या फंक्शन भी होते है और बच्चो से कहा जाता है फादर्स डे के ऊपर कुछ लिख कर लाना| इसलिए आज हम लेकर आये है Fathers Day Poems in Hindi का बेस्ट कलेक्शन|

फादर्स डे स्पीच बहुत ही सुंदर और बहुत शानदार है इसे आप स्कूल में सुना भी सकते हो या फिर लिख कर भी जा सकते हो|

पिता पर भाषण को आप ज्यादा से ज्यादा सोशल मीडिया पर शेयर कीजिये जिससे की और लोग भी देख सके और खुद भी इस्तमाल कर सके| आप इन्हें कॉपी पेस्ट भी कर सकते है| तो चलिए लेख पड़ना शुरू करते है.

Fathers Day Poems in Hindi From Daughter

Fathers Day Poems in Hindi From Daughter

माँ की कोमल ममता को तो
सब ने ही स्वीकार है
पर पिता की परवरिश को
कब किसने ललकारा है

मुश्किलो की घड़ियों में अक्सर
मेरे साथ खड़े थे वो
मेरी गलतियाँ थी फिर भी
मेरे खातिर लड़े थे वो

कमियों की अहसास
मुझको कभी तो हो ना पाई
कपकपा के सोते थे वो
मेरे ऊपर थी रजाई

माँ की गोद की गर्माहट
के बराबर उनकी थपकी
कन्धा उनका बिस्तर मेरी
आंख हल्की सी जो झपकी

उनके होसलों ने कभी न
आँख नम होने दिया है
जितनी थी मेरी जरुरत
सबको तो पूरा किया

उनकी लाड में जो पाया
थोडा कडवापन सही
मेरी खातिर मुझको डाटा
था वही बचपन सही

जिन्दगी की दौड़ में अब
अपने पैरो पर खड़े’
उनके जज्बों की बदौलत
मुश्किलों से हम लड़े

सर पे उनका साया जब तक
चिंता न डर है कोई
उनके कंधो की बदौलत बढ़
रही है जिन्दगी’
हैप्पी फादर्स डे

Best Speech on Father’s Day in Hindi – मेरे पिता मेरे आदर्श पर भाषण हिंदी में

Best Speech on Father's Day in Hindi

पापा पापा ओ मेरे पापा
सबसे प्यारे मुझे तुम हो मेरे पापा
छोटी थी जब दुनिया में आई

गोद में लिया था तुमने मेरे पापा
तब से बन गई थी
मै पापा की दिवानी

मै तो हूँ अपने पापा की प्यारी प्यारी रानी
पापा पापा ओ मेरे पापा
शब्द पहला निकला मेरे मुख से था पापा पापा

सुन रहे हो ना मेरे पापा
उंगली पकड़ के चलाना सिखाया था
जो माँगा पल में है पाया

वह गुडिया ला दो
किचन सेट दिलवा दों
कार स्कूटर एक मेरे खिलोने का कमरा ही सजा दो

पापा पापा ओ मेरे पापा
जहाँ भी जाऊ लेने आप चलते थे
अंगरक्षक की तरह हर पल मेरे साथ खड़े रहते थे

मेरी छोटी से बड़ी ख्वाइश को पूरा करते थे
एक बार भी ना उदासी को मुझे छूने देते थे
पापा पापा ओ मेरे पापा

अब पैरो पर खडी हो गई हूँ
पापा जीवन के हर ढंग को झेलने के
काबिल हो गई हूँ मेरे पापा

कैसे करू तुम्हारा शुक्रिया ओ मेरे पापा
दिल की गहराइयों से है प्यार मुझे तुमसे पापा
मै आपकी रानी आप मेरे दुनियाँ के सबसे अच्छे पापा

पापा पापा ओ मेरे पापा
हैप्पी फादर्स डे

Short Essay For Fathers Day in Hindi – पिता पर कविता हिंदी में

Short Essay For Fathers Day in Hindi

जो अपने बच्चे को
अच्छे विद्यालय में
पढ़ाने के लिए
दौड़ भाग करता है

उधार लाकर donation
भरता है, जरुरत पड़ी
तो किसी के भी
हाथ पैर भी पड़ता है

वो पिता ही होता है
बेटी की विदाई पर
दिल की गहराई से
रोता है

मेरी बेटी का ख्याल
रखना हाथ
जोड़ कर कहता है
वो पिता ही होता है

हर कॉलेज में साथ साथ
घूमता है बच्चे के रहने के
लिए होस्टल ढूंढता है
स्वत: फटे कपडे पहनता है

और बच्चे के लिए नई
जींस टी-शर्ट लाता है
वो पिता ही होता है
खुद खटारा फोन लेता

है पर बच्चे के लिए
स्मार्ट फोन लाता है
बच्चे की एक आवाज
सुनने के लिए उसके

फोन में पैसे भरता है
वो पिता ही होता है’
बच्चे के प्रेम विवाह के
निर्णय पर वो नाराज

होता है और गुस्से में
कहता है सब ठीक से
देख लिया है ना
आपको कुछ समझता भी है

यह सुनकर बहुत रोता है
वो पिता ही होता है
पिता का प्यार दीखता नही
सिर्फ महसूस किया जा सकता है

माँ पर तो बहुत कविता लिखी गयी
है पर पिता पर नहीं
पिता का प्यार क्या है दुनिया को बता दो

Heart Touching Fathers Day Poems in Hindi – प्यार भरी फादर्स डे स्पीच इन हिंदी

Heart Touching Fathers Day Poems in Hindi

जब मै सुबह उठा
तो कोई बहुत थक कर भी
काम पर जा रहा था
वो थे पापा

जब मम्मी डांट रही थी
तो कोई चुपके से
हँसा रहा था वो थे
पापा

ये दुनियाँ पैसो से चलती है पर
कोई सिर्फ मेरे लिए
पैसे कामये जा रहा था’
वो थे पापा

पेड तो अपना फल खा नहीं सकते
इसलिए हमे देते है
पर कोई अपना पेट खाली रखकर
भी मेरा पेट भरे जा रहा था
वो थे पापा

खुश तो मुझे होना चाहिए की वो
मुझे मिले, पर मेरे जन्म लेने
की खुशी कोई और मनाये जा रहा था
वो थे पापा

मै अपने बेटा शब्द को
सार्थक बना सका या नहीं पता नहीं
पर बिना स्वार्थ के अपने
पिता शब्द को सार्थक बनाये जा रहा था
वो थे पापा

सपने तो मेरे थे पर
उन्हें पुरे करने का रास्ता
कोई और बताये जा रहा था’
वो थे पापा

घर में सब अपना प्यार दिखाते है
पर कोई बिना दिखाए भी
इतना प्यार किये जा रहा था
वो थे पापा

मै तो सिर्फ अपनी खुशियों में
हँसता हूँ, पर मेरी हँसी को देख कर
कोई अपने गम भुलाये जा रहा है
वो थे पापा

Poems For Fathers Day From Daughters in Hindi – छोटी फादर्स डे स्पीच हिंदी में

Poems For Fathers Day From Daughters in Hindi

तुमसे ही तो मेरी शान है
पापा
तुमसे ही तो सिने में धडकती
जान है पापा

तुमने ही तो इस ज़ालिम दुनिया
से लड़ना सिखाया
तुमने अपना पेट काट कर
हमें पढ़ना और लिखना
सिखाया

मेरी हर खुवाइश बिना
कहे कैसे जान लेते हो
पापा में तो बच्चा हूँ
नासमझ हूँ फिर भी मेरी हर बात

तुम क्यों मान लेते हो
यहाँ हर रिश्ता एक मतलब के लिया
चलता है
हर इंशान का पेट दुसरे इंशान

से फायदा उठाकर ही पलता
है
मगर एक तुम ही हो जिसने
हमे इतना कुछ देकर

हमसे कुछ लिया नहीं
तुम महनत करते रहे
हमारे लिए और हमने
तुम्हारे लिए कुछ किया’
नहीं

तुम्हे फर्क नहीं पड़ता
की बेटी है या बेटा
तुमने हमेशाअपनी औलाद
को एक नजरिये में ही है
देखा

पापा मै बहुत शर्मिंदा हूँ
के तुम्हारे लिए कभी कुछ
न कर पाया
तुमने दुःख आने ना दिया पास

कोई और मै की तुम्हरी
झोली खुशियों से भर ना
पाया
मगर यकीन रखना मै एक

दिन बहुत बड़ा काम कर
जाऊंगा
पापा मै पूरी दुनिया में एक
दिन ऊँचा तुम्हारा नाम कर
जाऊंगा

Fathers Day Inspirational Poems in Hindi – पापा के लिए कविता हिंदी में

Father's Day Speech For Kindergarten in Hindi - पापा के लिए कविता हिंदी में 

मेरा साहस मेरी इज्जत मेरा सम्मान है पिता
मेरी ताकत मेरी पूंजी मेरी पहचान है पिता

घर की एक एक इट में शामिल उनका खून पसीना
सारे घर की रोनक उनसे सारे घर की शान पिता

मेरी इज्जत मेरी शौहरत मेरा रुतबा मेरा मान पिता
मुझको हिम्मत देने वाला मेरा अभिमान है पिता

सारे रिश्ते उनके दम से सारी बाते उनसे है
सारे घर के दिल की धड़कन सारे घर की जान पिता

शायद रब ने देकर भेजा फल ये अच्छे कर्मो का
उसकी रहमत उसकी नियामत उसका है वरदान
पिता

Father’s Day Welcome Speech in Hindi – Latest Fathers Day Poems in Hindi

Latest Fathers Day Poems in Hindi

उंगली पकड़ कर चलना सिखाया जिन्होंने
वो है मेरे पापा
सही गलत का मतलब बताया जिन्होंने
वो है मेरे पापा
हर मुसीबत में साथ निभाते है जो
वो है मेरे पापा

घोडा बनकर अपनी पीठ पे झुलाते है जो
वो है मेरे पापा
हर मुसीबत में लड़ना सिखाते है जो
वो है मेरे पापा
मेरी एक खुशी के लिए अपनी लाखो खुशियाँ
लुटाते है जो वो है मेरे पापा

मुझ पर एक भी खरोच आने पर लाखो आंसू
बहाते है जो वो है मेरे पापा
मेरे लिए अपना पसीना बहाते है जो
वो है मेरे पापा
दुःख में भी हँसना सिखाते है जो
वो है मेरे पापा

देश के लिए मरना सिखाते है जो
वो है मेरे पापा
आइना मुझे अपना बताते है जो
वो है मेरे पापा
मुझ मे अपना सपना सजाते है जो
वो है मेरे पापा

बड़ो का आदर करना सिखाते है जो
वो है मेरे पापा
अपनी गोद में सर रख कर सुलाते है जो
वो है मेरे पापा
गलत रस्ते पे जाने पर धमकाते है जो
वो है मेरे पापा

सही रस्ते पे जाने पर पीठ थपथपाते है जो
वो है मेरे पापा
कामयाबी का रास्ता दिखाते है जो
वो है मेरे पापा
जूनून की आग कुछ पाने की लगन कुछ बनने की आशा
कुछ कर दिखने की आग मुझमे जलाते है जो
वो है मेरे पापा

ज्ञान की चीजे बताते है जो
वो है मेरे पापा
देश के हर बेटी बहन माँ की इज्जत करना सिखाते है जो
वो है मेरे पापा
जिसकी कहनी लिख रहा हूँ मै
वो है मेरे पापा

जिसके बनाये हुए रस्ते पे धीरे धीरे चलना सिख रहा हूँ मै
वो है मेरे पापा
लोग कहते है जिसका साया दिख रहा हु मै
वो है मेरे पापा
ये पिता की कहनी जो मैंने आपको बताई है
माना की ये मेरी सोच की गहराई है

जिन्दगी का असली मतलब समझाया जिन्होंने
वो है मेरे पापा
अपने पैरो पे खड़ा होना सिखया जिन्होंने
वो है मेरे पापा
माना थोडा समय लगेगा मुझे अपने पैरो पे खड़ा होने में
लेकिन पोधा भी तो समय लेता है बड़ा होने में

वादा करता हूँ की अपने पिता का नाम आसमान में
चमकाऊँगा मै
एक अच्छा बेटा बनकर जरुर दिखाऊंगा मै
अपने माता पिता के लिए दिन रात कर जाऊंगा मै
अपने खून की हकीकत सारे जहाँ को बताऊंगा मै
बेटे का हर एक फर्ज निभाऊंगा मै

Fathers Day Poems in Hindi पर लिखा गया लेख अगर आपको पसंद आये तो आप इसे फेसबुक, व्हाट्सएप्प, ट्विटर इत्यादि पर जरुर शेयर करे|

अगर आपको कोई स्पीच या फिर कविता आती है और आप उसे हमारी वेबसाइट पर अपलोड करवाना चाहते है तो फिर आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख सकते है.

हम आपके लिए ऐसी नए – नए लेख लेकर आते रहेंगे| इसलिए आप हमारी वेबसाइट का नोटिफिकेशन ओन कर ले जिससे आपको हमारे हर लेख की जानकारी मिलती रह करेगी.

आपको HindiMeStatus.com टीम की और से फादर्स डे की हार्दिक शुभकामनाएँ|

मातृ दिवस ⇓

Leave a Reply