ज़िंदगी - एक khel

ज़िंदगी – एक खेल

Written by HindiMeStatus

दोस्तो कभी सोचा है आपने की ये ज़िंदगी कैसी अजीब सी पहेली है ना ,तो इसे आज तक कोई समझ पाया ना ही कोई जान पाया ,ज़िंदगी को जानना ओर इसे समझना हमारे बस मे तो नहीं , पर इसे जीना ये हमारे बस है। वैसे किसी ने सच ही कहा है इस जहां मे मरता तो हर कोई है पर इस ज़िंदगी को जीता कोई कोई है॥

 

 

ज़िंदगी एक ऐसा खेल है जो आपको तबतक खेलना पड़ता है जबतक आपकी साँसे न रुक जाये । हर इंसान इस खेल को खेलता है। कोई खिलाड़ी बनता है , तो कोई अनाड़ी बनता है  ॥ कोई जीने के लिए खेलता है तो कोई बस ज़िंदगी काटने के लिए खेलता है। और एक दिन खेल ख़तम हो जाता है। किसी का नाम यादों मे रह जाता है,किसी का नाम किताबों मे छप जाता है और किसी का नाम गुमनाम हो जाता है ।

कितनी अजीब बात है ना चंद पल मे आपका अस्तित्व महज मिट्टी बन जाता है । अब सवाल ये उठता है की जब आप इस दुनिया में कुछ वक़्त के लिए मुसाफिर बनकर आए हो और आपको एक दिन इस दुनिया को अलविदा कहना ही है तो क्यूँ रोज़ बेमौत खुद को मारते हो ?
और आपको एक दिन इस दुनिया को अलविदा कहना ही है तो क्यूँ रोज़ बेमौत खुद को मारते हो ?

ज़िंदगी ईश्वर की वो सौगात है जो बार बार नहीं मिलती,लेकिन जब तक आप ज़िंदा हो ये हर रोज़ आपको मौका देती है दोबारा जीने के लिए,अपने अतीत के ज़ख्मो से उबरने के लिए ,अपनी हार को जीत मे बदलने के लिए,दोबारा एक नया ख्वाब देखने के लिए ,दोबारा एक नयी उम्मीद जगाने के लिए,दोबारा ये बताने के लिए की जो बीत गया सो बीत गया
वो एक पन्ना था पूरी किताब नहीं ओर दोबारा अपनी एक नयी कहानी लिखने के लिए।

अपने हर दिन को महज कलेंडर की तरीखे ना बनाए बल्कि अपने हर दिन को एक उत्सव की तरह मनाए ,क्या पता कल आपको मौका ना मिले दोबारा इस पल को जीने का,

जिन अपनों से आप नाराज़ हैं और आप अपने अहं की वजह से उनसे दूरिया बना लेते हो, इतनी भी दूरिया मत बना लेना की जब आपको अपनी गलती का एहसास हो तो आपका सामना महज उनकी तस्वीरों से हो इसलिए आपकी ज़िंदगी में जो आपके अपने हैं उनकी कदर कीजिये,उनका सम्मान कीजिये,उनके प्यार की इबादत कीजिये। और ऐसा बनिए की जब
कोई आपको याद करे तो उसके लबो पर आपके लिए दुआ हो ।

उस भीड़ से अलग कीजिये खुद को जो बस आती है ओर चली जाती है। आपकी ज़िंदगी आपकी कहानी है ओर आप एक किरदार हो ,अपने किरदार को इतनी खूबसूरती से निभाईए की जब कोई हारा हुआ इंसान आपकी कहानी पढे तो उसमे आशा की एक नयी किरण जाग जाये।

अपने वजूद को इतना बुलंद बनाओ की आप रहो न रहो इस दुनिया के इतिहास मे आपकी शख्सियत हमेशा ज़िंदा रहे।

तो खुद से कीजिये एक वादा चाहे आ जाए लाख मुश्किले, चाहे टूट जाए सारे सपने पर जबतक ज़िंदगी है खुद को मत टूटने देना,अपनी आखिरी सांस तक ज़िंदादिली से जीते रहना।

आशा करते हैं की #hindimestatus द्वारा ये लेख आपको ज़रूर पसंद आएगा …अगर आपको ये लेख पसंद आया तो कमेंट ओर शेयर करना भूले ॥

और अपनी ज़िंदगी को खुल कर जीए क्यूंकी ये ज़िंदगी ना मिलेगी दोबारा॥

 

About the author

HindiMeStatus

Leave a Comment