Diwali

दीवाली पर कविता – Diwali Poem in Hindi For Class 1 To 12

दीवाली पर कविता
Written by HindiMeStatus

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका आपकी अपनी वेबसाइट HINDIMESTATUS.com पर| आज हम आपके लिए दीवाली पर कविता का लेख लेकर आये है.

दीवाली का पर्व सभी पर्वो मे से एक महत्वपूर्ण पर्व है| और यह हर वर्ष मनाया जाने वाला एक प्राचीन हिंदू त्योहार है|

दीवाली भारत के सबसे बड़े और प्रतिभाशाली त्योहारों में से एक है| यह पर्व बुराई पर अच्छाई का प्रतीक माना जाता है क्योंकि इस दिन भगवान राम रावण का वध कर अयोध्या वापस लौटे थे और अयोध्यावासियों ने उनका स्वागत तेल के दीये जलाकर किया था|

यह पर्व रोशनी का है इस दिन पूरा देश उजाले से जगमग रहता है और इसमे सबसे अधिक महत्व दीयों का रहता है सभी लोग अपने घरो को तेल के दीयों और लड़ियों से सजाते है और इस लक्ष्मी गणेश पूजन भी होता है| सभी  घरो मे अच्छे – अच्छे पकवान बनते है और लोग एक दूसरे को दिवाली की शुभकामनाए देते है.

दीवाली के एक दिन पहले सभी स्कूलो मे दीवाली मनाई जाती है और बच्चो को कविता लिख कर लाने को कहा जाता है इसलिए हम आपके लिए लेकर आए है बहुत ही सुंदर और शानदार दिवाली पर कविता का बेस्ट कलेक्शन जिसे आप अपने स्कूल मे लिख कर लेजा सकते हो और सुना भी सकते हो.

दीवाली पर कविता को आप ज्यादा से ज्यादा सोशल मीडिया पर शेयर कीजिये जिससे की और लोग भी देख सके और खुद भी इस्तमाल कर सके| आप इन्हें कॉपी पेस्ट भी कर सकते है| तो चलिए लेख पड़ना शुरू करते है.

दीप जलते जगमगाते रहें
हम आपको आप हमे याद आते रहें
जब तक जिंदगी है, दुआ है हमारी
आप यूँही दिये की तरह जगमगाते रहें

Poem on Diwali in Hindi – दीवाली पर कविता हिन्दी में

दिवाली पर कविता हिन्दी में

आई रे आई जगमगाती रात है आई
दीपो से सजी टिमटिमाती बारात है आई
हर तरफ है हँसी ठिठोले

रंग-बिरंगे, जग मग शोले
परिवार को बांधे हर त्यौहार
खुशियों की छाये जीवन मे बहार

सबके लिए है मनचाहे उपहार
मीठे मीठे स्वादिष्ट पकवान
कराता सबका मिलन हर साल

दीपावली का पर्व सबसे महान
आई रे आई दीपावली है आई
फिर से सजेगी हर दहलीज फूलों से

फिर महक उठेगी रसोई पकवानो से
मिल बैठेंगे पुराने यार एक दूजे से
फिर से सजेगी महफिल हँसी ठहाको से

चरो तरफ होगा खुशियो का नज़ारा
सजेगा हर आँगन दीपक का उजाला
डलेगी रंगो की रागोली हर एक द्वार
ऐसा है हमारा दीपावली का त्यौहार

Short Poem on Diwali Festival in Hindi Language – दिवाली पर बाल कविता हिन्दी में

दिवाली पर बाल कविता हिन्दी मे

आई दीवाली खुशी मनायेंगे
मिलजुल यह त्यौहार मनायेगे

चौदह साल काटा वनवास,
राम जी आये भक्तो के पास

खुशियों के दीप जलाएंगे,
आई दीवाली खुशी मनाएंगे

दिल से सारे वैर भुला कर
इक-दूजे को गले लगाकर,

सब शिकवे दूर भगाएँगे
आई दीवाली खुशी मनाएंगे

चल रहे है बम्ब-पटाखे,
शोर मचाते धूम-धड़ाके,

संग सब के खुशी मनाएंगे
आई दीवाली खुशी मनाएंगे

Diwali Short Poem in Hindi – दीपावली पर छोटी सी कविता

दीपावली पर छोटी सी कविता

अंधकार से लोहा लेने,
पंक्ति पंक्ति दीप जले है,
सच की जीत सदा है होती
ऐसा सब ज्ञानी हैं कहते

चाहे कितनी कठिन परीक्षा,
वीर बुराई कभी नहीं सहते
अच्छाई का स्वागत करने
पूजा के ले थाल चले है

अंधकार से लोहा लेने,
पंक्ति पंक्ति दीप जले है,
मिल कर सारे बाँट रहे है
प्यार भरी यह सुंदर घड़ियाँ,

हर आँगन में दमक रही है,
सात रंग की सुंदर लड़ियाँ
रुठों को भी गले लगाने,
हर हरिधी हृदया के द्वार खुले है

अंधकार से लोहा लेना है,
पंक्ति पंक्ति दीप जले है,
झिलमिल करती फुलजड़ी है,
नाच रही फिरकी मतवाली

हवाई अपना रंग दिखाती,
अनार बजा रहा है ताली.
आज उमंगों का मेला है,
भगवान के लो सुमन खिले हैं.

अंधकार से लोहा लेना है,
पंक्ति पंक्ति दीप जले है.

Poem on Diwali in Hindi For Class 8 – दीपावली पर कविता हिंदी में

दीपावली पर कविता हिंदी में

श्री राम लखन और सीता जी के
आने से,
अयोध्या मे छा गई बहार,
जगाओ जगाओ दीपक,

मनाओ दीपावली का शुभ त्यौहार!
सदियो से यही रीति हम मिल कर
मनाते है,

छोडकर अहंकार दीप से दीप मन के
भी जलाते है!
दीपावली के पर्व पर खुब मिठाई
खाते है,

लक्ष्मी जी को मानते हुये, दीपवाली
की शोभा को बढ़ाते है!
जगमग जगमग करता रहे, हर किसी का
प्यारा परिवार,

खुशियों से भरा रहे सब का आँगन,
दीपावली लाए हर साल खुशियों हज़ार!
बच्चो को खूब मिठाइयाँ और मिले बड़ो
का प्यार,

दीपवाली के पर्व की सबको बधाई लाखो
करोड़ बार!
नहीं पर्यावरण दूषित करेंगे चलाकर पटाखे
हजारो बार,

दीपवाली को मनाएंगे हम मिल-जुलकर
रखते हुए सब की खुशियों का ख्याल,
दीपवाली की बधाई हो सबको बारबार

Poem on Diwali in Hindi for class 1, 2, 3, 6 – बेस्ट दीपावली पर कविता हिन्दी में

बेस्ट दीपावली पर कविता हिन्दी मे

मंगलमय हो आपको दीपों का त्यौहार,
जीवन में आती रहे पल पल नयी बहार,
ईश्वर से हम कर रहे हर पल यही पुकार,

लक्ष्मी की कृपा रहे भरा रहे घर द्वार…
मुझको जो भी मिलना हो, वह तुमको ही मले दोलत,
तमन्ना मेरे दिल की है, सदा मिलती रहे शोहरत,

सदा मिलती रहे शोहरत, रोशन नाम तेरा हो
कामो का ना तो शाया हो निशा में न अँधेरा हो…
दिवाली आज आयी है, जलाओ प्रेम के दीपक

जलाओ प्रेम के दीपक, अँधेरा दूर करना है
दिलों में जो अँधेरा है, उसे हम दूर कर देंगे
मिटा कर के अंधेरों को, दिलो में प्रेम भर देंगे…

मनाएं हम तरीकें से तो रोशन ये चमन होगा
सारी दुनियां से प्यारा और न्यारा ये वतन होगा
धरा अपनी, गगन अपना, जो बासी वो भी अपने हैं
हकीकत में वे बदलेंगे, दिलों में जो भी सपने हैं…

Diwali Kavita in Hindi Font – दीपावली कविता इन हिंदी

दीपावली कविता इन हिंदी

ये प्रकाश का अभिनन्दन है
अंधकार को दूर भगाओ
पहले स्नेह लुटाओ सब पर
फिर खुशियों के दीप जलाओ

शुद्ध करो निज मन मंदिर को
क्रोध-अनल लालच-विष छोडो
परहित पर हो अर्पित जीवन
स्वार्थ मोह बंधन सब तोड़ो

जो आँखों पर पड़ा हुआ है
पहले वो अज्ञान उठाओ
पहले स्नेह लुटाओ सब पर
फिर खुशिओं के दीप जलाओ

जहाँ रौशनी दे न दिखाई
उस पर भी सोचो पल दो पल
वहाँ किसी की आँखों में भी
है आशाओं का शीतल जल

जो जीवन पथ में भटके हैं
उनकी नई राह दिखलाओ
पहले स्नेह लुटाओ सब पर
फिर खुशियों के दीप जलाओ

नवल ज्योति से नव प्रकाश हो
नई सोच हो नई कल्पना
चहुँ दिशी यश, वैभव, सुख बरसे
पूरा हो जाए हर सपना

जिसमे सभी संग दीखते हों
कुछ ऐसे तस्वीर बनाओ
पहले स्नेह लुटाओ सब पर
फिर खुशियों के दीप जलाओ

दीवाली पर कविता पर लिखा गया लेख अगर आपको पसंद आये तो आप इसे फेसबुक, व्हाट्सएप्प, ट्विटर इत्यादि पर जरुर शेयर करे| अगर आपको कोई कविता आती है और आप उसे हमारी वेबसाइट पर अपलोड करवाना चाहते है तो फिर आप हमे कमेंट बॉक्स में लिख सकते है.

हम आपके लिए ऐसी नए – नए लेख लेकर आते रहेंगे| इसलिए आप हमारी वेबसाइट का नोटिफिकेशनओन कर ले जिससे आपको हमारे हर लेख की जानकारी मिलती रह करेगी.

आपको HindiMeStatus.com टीम की और से दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ| 🙂

जरुर पढ़े ⇓

About the author

HindiMeStatus

Leave a Comment